कभी देखा है ऐसा विचित्र मंदिर , जहाँ चढती है चप्पलों की माला



हर तरह की बीमारियों का आयुर्वेदिक घरेलू इलाज

अब तक आपने सिर्फ मंदिर में फूलों की माला ,लड्डू ,सोना, चांदी आदि वस्तुओ को चढाया होगा या चढते देखा होगा लेकिन एक ऐसा भी विचित्र मंदिर है जहाँ पर फूलों की नही चप्पलों की माला चढाई जाती है

mala

आप यह जानकर चौकिये नही ये मंदिर कर्नाटक के गुलबर्ग में स्थित है इस मंदिर को लोग लकम्मा देवी के मंदिर के नाम से जानते है जहाँ पर भक्त माँ को खुश करने के लिए चप्पलों की माला बांधते है

हर साल यहाँ पर चप्पलों का मेला लगता है जिसमे अलग अलग गाँव से लोग चप्पल चढ़ाने आते है इस मेले का आयोजन दीवाली के छठे दिन होता है लोग माता से मन्नत मांगते है और उसके पूरा होने के लिए मंदिर के बाहर लगे पेंड पर चप्पलों की माला को टांगते है स्थानीय लोगो का मानना है की इस तरह स चप्पलों के चढ़ाने से माता उनकी बुरी शक्तियों से रक्षा करती है और ये भी मान्यता है की इससे पैरो और घुटनों का दर्द भी हमेशा के लिए दूर हो जाता

  क्यों रखते है सैनिक अपने बाल छोटे

स्थानीय लोग बताते है पहले यहाँ बैलो की बलि दी जाती थी लेकिन जानवरों की बलि के रोक के बाद से बलि देना बंद हो गया और बलि के बंद होने के बाद से ही चप्पलों की माला बांधने की परम्परा शुरू हुई


Get Mobile App For Sarkari Naukri